Arun Yogiraj Ram Lalla Murtikar: कौन हैं अरुण योगीराज ? जिनकी बनाई रामलला की मूर्ति देख सभी भाव विभोर हो गए।

By | 23 January 2024
Ram Lalla Murti kisne Bnai

Ramlalla murtikar Arun Yogiraj, janiye aayodhya shri ram ki murti kisne bnai, ramlalla ki murti kisne bnai, koun hain Arun Yogiraj,Arun Yogiraj Ram Lalla Murtikar

Arun Yogiraj Ram Lalla Murtikar

500 वर्षों के इंतजार के बाद रामलल्ला अयोध्या लोटे हैं। 22 जनवरी 2024 को रामलला की प्रतिमा राम मंदिर में स्थापित हुई है। रामलल्ला का बालरूप की मूर्ति स्थापित की गयी हैं।

रामलल्ला की बालरूप मूर्ति अरुण योगी राज (Arun Yogiraj) द्वारा बनाई गयी हैं। उनकी कला को देख देश ही नहीं विदेश भी प्रसंसा करते नहीं कर रहे हैं। मूर्ति को देख मानो ऐसा लग रहा हैं जैसे खुद स्वयं भगवान राम ही धरती पर आ गए हैं. राम मंदिर में भगवान राम के बालरूप रामलला को टीवी स्क्रीन पर देश-दुनिया में करोड़ों श्रद्धालुओं ने घर बैठे देखा है। पर आपने आंसू रोक नहीं पा रहे हैं।

Ramlalla ki murti kisne banai कौन हैं रामलल्ला मूर्तिकार अरुण योगिराज ?

आज सभी राम भक्तों के मान में एक ही सवाल हैं की अयोध्या के रामलल्ला की मूर्ति किसने बनाई हैं ?

कर्नाटक के मैसूर में रहने वाले अरुण योगिराज ने रामलल्ला की मूर्ति बनाई हैं। अरुण योगिराज का परिवार पिछली’पांच पीढ़ियों से मूर्तिकारी या कहे अपनी कला का प्रदर्शन कर रहे हैं। आज के समय में अरुण योगीराज देश में सबसे अधिक डिमांड वाले मूर्तिकार हैं। राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के लिए अयोध्या में विराजमान रामलला की मूर्ति बनाकर अरुण योगीराज ने अपनी कला का प्रदँशन बखूबी कर दिया हैं उनकी कला की सराहना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर चंपत राय एक कर चुके हैं। उनके पिता योगीराज शिल्पी एक बेहतरीन मूर्तिकार हैं और उनके दादा बसवन्ना शिल्पी ने वाडियार घराने महलों में अपनी कला दिखाई थी।

Arun Yogiraj अरुण योगीराज ने बनाई हैं कई मूर्तियां


अरुण योगीराज ने सिर्फ रामलला की ही मूर्ति नहीं बनाई है, बल्कि उन्होंने इससे पहले भी कई मूर्तियां बनाई है, जिसके लिए उनकी तारीफ भी मिली है।

  • मैसूर के अरुण योगीराज ने इंडिया गेट के पास स्थापित सुभाष चंद्र बोस की 30 फीट की मूर्ति बनाई है।
  • अरुण योगीराज ने भगवान आदि शंकराचार्य की 12 फीट की मूर्ति बनाई है, जिसकी स्थापना केदारनाथ में की गई है।
  • मैसूर में स्थापित भगवान हनुमान की 21 फीट की मूर्ति भी बनाई है।
  • सबसे ज्यादा चर्चित और आकर्षित मूर्ति श्री राम के बालरूप की बनाई जो अयोध्या राममंदिर में स्थापित की थी।

सबसे ज्यादा चर्चित और आकर्षित मूर्ति श्री राम के बालरूप की बनाई जो अयोध्या राममंदिर में स्थापित की थी।

Koun se Paththar se bani ramlalla ki murti श्याम शिला पत्थर से रामलला की मूर्ति का निर्माण

बेंगलुरु के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रॉक मैकेनिक्स (NIRM) दावा किया है। रामलला की प्रतिमा ब्लैक ग्रेनाइट पत्थर से बनाई गई है, यह पत्थर 2.5 अरब साल पुराना है। इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर एचएस वेंकटेश ने भौतिक-यांत्रिक विश्लेषण ( Physico Mechanical Analysis) का इस्तेमाल कर पत्थर का परीक्षण किया है। एनआईआरएम भारतीय बांधों और परमाणु ऊर्जा संयंत्रों के लिए चट्टानों का परीक्षण करने वाली नोडल एजेंसी है।

Ayodhya Ram Mandir जानिए रामधाम से जुड़ीं ख़ास बातें जो अपने ना कभी सुनी होगी ना पढ़ी होगी।

51 इंच की रामलला की प्रतिमा

अरुण योगीराज ने रामलला की मूर्ति का निर्माण श्याम शिला पत्थर को तराश कर किया है। रामलला की मूर्ति की ऊंचाई 51 इंच है, जो दिखने में काफी भव्य है। मूर्ति का वजन करीब 200 किलोग्राम है। मूर्ति में भगवान राम के कई अवतारों को तराशा गया है। ख़ास बात को यह हैं की इस मूर्ति को बनाने के लिए कहि से भी शिला को तोडा नहीं गया हैं।

रामलल्ला मूर्तिकार अरुण योगिराज मूर्तिकार कैसे बने ?

अरुण योगिराज बचपन से ही पढ़ाई में बहुत होशियार थे इसीलिए वे मूर्तिकार नहीं बनना चाहते थे। 2008 में मैसूर यूनिवर्सिटी से एमबीए की पढ़ाई ख़त्म कर एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करने लगे। लेकि अक्सर उनके दादाजी कहा करते थे की तुम मूर्तिकार ही बनोगे। कुछ समय उनकी जॉब अच्छे से चलती रही चुकी उनका परिवार पिछली पांच पीढ़ियों से मूर्तिकारिता कर रहा था उनका मन भी आकर्षित हुआ और अंत में उन्होंने भी सुनिश्चित किया की वे भी मूर्तिकारिता ही करेंगे। लेकिन उन्होंने सोचा भी नहीं होगा की उनको रामलल्ला की मूर्ति बनाने का मौका मिलेगा।

Ayodhya Ram Mandir 2024 Donation

Gyanaxis :- हम उम्मीद करते हैं आपको अयोध्या राममंदिर के रामलल्ला मूर्तिकार अरुण योगिराज के बारे में जान कर अच्छा लगा होगा। और भी आर्टिकल्स पड़ने के लिए हमारी वेबसाइट पर बने रहियें।

धर्म से जुडी और जानकारी पर्ने के लिए यहाँ क्लिक करें https://dharmkahani.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *