Ganesh Sthapana 2024 गणेश स्थापना से पहले इन बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए 

By | 13 September 2023
Ganesh Sthapana

Ganesh Chaturthi 2024 Sthapana, Ganesh ji ki sthapana kaise kare, Ganesh Chaturthi Pujab vidhi, Ganesh Chaturthi Sthapana Vidhi, Ganesh chaturthi mahurat kya hai, ganesh sthapna kaise kare, ganeshji ki pooja kaise kare, ganeshji ka poojan kaise kare, ganeshji ki puja kaise kare, ganesh chaturthi kab hai, ganeshji, ganpati bappa ki pooja kaise kare, ganpati bappa ki puja kaise kare, ganesh sthapna kese kare, ganeshji ki pooja kese kare,

Ganesh Chaturthi 2024

गणेश चतुर्थी का त्योहार 19 सितंबर 2024 से मनाया जाएगा। लोगो की मान्यता हैं की गणेश चतुर्थी के दिन भगवान श्री गणेश का जन्म हुआ था। गणेश चतुर्थी के दिन गणपति बप्पा को लोग अपने घर पर विराजित करते हैं और उनकी स्थापना के साथ ही पुरे 10 दिनों तक विधि-विधान से पूजा करते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार गणपति जी की स्थापना अगर विधि-विधान से नहीं होती तो वे घर में विराजमान नहीं होते हैं और लोगो को उनका आशीर्वाद प्राप्त नहीं होता है। जानिए गणेशजी का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए उनकी स्थापना किस प्रकार से करना चाहिए और किन किन बातों का रखना विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए –

Ganesh Sthapna गणेश स्थापना से पहले इन बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए

1. गणेशजी की स्थापना हमेशा पूर्व और उत्तर पूर्व दिशा में करना चाहिए जी शुभ माना जाता है। भूलकर भी गणेशजी की स्थापना दक्षिण और दक्षिण पश्चिम में नहीं करनी चाहिए।

2. ऑफिस हो या घर भगवान श्री गणेश की दो मूर्ति एक साथ कभी नहीं रखना चाहिए। वास्तु शास्त्र में ऐसा कहा गया है की ऐसा करने से दो ऊर्जा का आपस में टकराती है।  जिससे घर या ऑफिस दोनों में धन की हानि होती है।

3. भगवान श्री गणेश की स्थापना के समय इस बात का अवश्य ध्यान रखना चाहिए कि गणेशजी का मुख दरवाजे की तरह ना हो। क्यों की भगवान श्री गणेश के मुख की ओर सुख, सिद्धि और सौभाग्य होता है।

4. भगवान श्री गणेश के विराजित स्थल पर अखंड ज्योति गणेशजी के विसर्जन वाले दिन तक जलाए रखनी चाहिए।

Indore Famous Ganesh Temple

गणेश चतुर्थी पूजन विधि (Ganesh Chaturthi Pujan Vidhi) / गणेश चतुर्थी स्थापना विधि (Ganesh Chaturthi Sthapana Vidhi)

1. श्री गणेश चतुर्थी के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि कार्य करके पवित्र का ध्यान रखते हुए भगवान श्री गणेश की प्रतिमा घर लाये।

2. स्थापना चौकी सबसे पहले को शुद्ध जल या गंगाजल छिड़क कर साफ करके उस पर लाल या हरे रंग का वस्त्र बिछाएं।

 3. अब उस पर बिना खंडित हुए अक्षत रखें और अक्षत के ऊपर भगवान श्री गणेश की प्रतिमा स्थापित कर देना चाहिए ।

4. भगवान श्री गणेश की प्रतिमा पर शुद्ध या गंगाजल फूल या अनामिका – मध्यमा दोनों उंगलियो से एक साथ जल छिड़के।

5. भगवान श्री गणेश को एक जनेऊ धारण करवाना चाहिए और बाएं ओर अक्षत के साथ कलश स्थापना करें। ध्यान रहे कलश पर स्वास्तिक जरूर बनाएं।

6. कलश बनाने में पान या आम के पत्ते और नारियल पर कलावा (मौली) बांधकर कलश पर रखें।

7 भगवान श्री गणेश दूर्वा अर्पित करने के बाद उन्हें उनके पसंददीदा मोदक भोग लगाएं।

8 . भगवान गणेश को रोली, फूल – माला, आदि अर्पित करें।

9. भगवान श्री गणेशजी को तिलक करने के बाद श्री गणेश जी के सामने एक दीपक प्रज्वलित करे जो अखंड रूप से 10 दिनों तक चलना चाहिए और इसे दाईं तरफ रख दें।

10. अब भगवान श्री गणेशजी की आरती शुद्ध मन से करे।

Ganesh Chaturthi 2024 गणेश चतुर्थी महूर्त

हिंदू पंचांग के अनुसार, भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि 18 सितंबर दोपहर 02:09 से 19 सितंबर दोपहर 03:13 तक रहेगी। लेकिन गणेश चतुर्थी 2023 मंगलवार 19 सितंबर 2023 हो हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा।

Ganesh Sthapna Muhurat 2024

गणेश चतुर्थी गणेश स्थापना मुहूर्त :- सुबह 11:01 से दोपहर 01:26 तक रहेगा।

गणेश जी की ऐसी मूर्ति लाएं घर

दोस्तों, उम्मीद है आपको ब्लॉग की जानकारी जरूर अच्छी लगी होगी, अगर आपको भी किसी मंदिर या धर्म से जुडी कथा के बारे जानना है तो हमें जरूर बताये हम आपको पूरी पूरी जानकारी देने की कोशिश करेंगे। आप हमसे कमेंट बॉक्स या Email :- “gyanaxizweb@gmail.com” के सहारे संपर्क कर सकते है।

3 thoughts on “Ganesh Sthapana 2024 गणेश स्थापना से पहले इन बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए 

  1. Pingback: Shri Krishna Janmashtami 2023: कब है श्री कृष्ण जन्माष्टमी, जानिए जन्माष्टमी के विशेष और दुर्लभ संयोग - gyanaxis.com

  2. Pingback: Ganesh Chaturthi 2023 गणेशजी की मूर्ति का भी होता विशेष महत्व - gyanaxis.com

  3. Pingback: Anant Chaturdashi 2023: अनंत चतुर्दशी का महत्व, कथा, गणपति जी का विसर्जन, पूजा विधि - gyanaxis.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *